GNM Course Details in Hindi : जीएनएम तीन वर्ष और 6 माह का एक डिप्लोमा स्तरीय कोर्स है जिसमें 6 माह की इंटर्नशिप भी शामिल है यह कोर्स उन छात्रों के लिए सबसे बेहतर माना जाता है जो क्लिनिकल नर्सिंग के क्षेत्र में करियर बनाने की इच्छा रखते है। GNM Course के दौरान छात्रों को मरीज या घायल लोगों की देखभाल कैसे की जाए ताकि उन्हें पूरी तरह से स्वास्थ्य होने में मदद मिल सके आदि के बारे में सिखाया जाता है। 

अभी हम GNM Course Details in Hindi ब्लॉग में जीएनएम कोर्स के प्रत्येक पहलु को समझने का प्रयास करेंगे जैसे कि GNM Kya Hota Hai, GNM Full Form in Hindi, GNM Kitne Saal Ka Hota Hai, GNM ki Fees Kitni Hai, GNM Syllabus in Hindi, GNM ki Salary Kitni Hai, GNM Books in Hindi, योग्यता, एडमिशन प्रक्रिया, नौकरी के अवसर एंव सैलरी आदि के बारे में विस्तार से समझते है तो चलिए शुरू करते है…. 

कोर्स का नाम  जीएनएम (जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी)
कोर्स का प्रकार  डिप्लोमा 
अवधि  3.5 वर्ष (6 माह इंटर्नशिप शामिल)
न्यूनतम योग्यता साइंस स्ट्रीम के साथ 12वी पास (न्यूनतम 50% अंक)
एडमिशन प्रक्रिया मेरिट या प्रवेश परीक्षा के आधार पर 
कोर्स फीस  20,000 से 1,50,000 रूपये प्रतिवर्ष
जीएनएम सैलरी 3 से 8 लाख रूपये प्रतिवर्ष
नौकरी प्रोफाइल  क्लीनिकल नर्स स्पेशलिस्ट, लीगल नर्स कंसलटेंट, कम्युनिटी हेल्थ नर्स आदि
नौकरी के क्षेत्र अस्पताल, हेल्थकेयर इंडस्ट्री, विश्वविद्यालय, नर्सिंग होम, ओल्ड ऐज होम, NGOs

आपको इसमें क्या - क्या मिलेगा!

GNM Course Details in Hindi 

GNM Full Form in Hindi :- जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी

GNM Kya Hota Hai: जीएनएम कोर्स नर्सिंग के क्षेत्र में थ्योरी एंव प्रैक्टिकल के माध्यम से सिखाता है। इस कोर्स में छात्रों को सामुदायिक स्वास्थ्य से लेकर छोटी सर्जरी तक सभी प्रकार के प्रशिक्षण दिए जाते है जिससे वह अपनी जिम्मेदारी को अच्छे से निभा सके।

GNM Course उन नर्सिंग पाठ्यक्रमों में से एक है जिसे करियर के लिए एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। जीएनएम एक नर्सिंग डिप्लोमा स्तरीय कोर्स है, GNM Course हेल्थकेयर सेक्टर का एक महत्वपूर्ण पहलु है जो लोगो के स्वास्थ्य देखभाल, स्वास्थ्य जांच और बीमारी की रोकथाम करने में अहम भूमिका निभाते है। GNM कोर्स का उद्देश्य योग्य उम्मीदवारों को देश, समुदाय एंव व्यक्तियों की स्वास्थ्य संबधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए तैयार करना है।

GNM डिप्लोमा कोर्स करने की बाद आप सरकारी और निजी अस्पतालों या क्लीनिकों में अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं। भारत में कई कॉलेज एंव विश्वविद्यालय हैं जो GNM डिप्लोमा कोर्स करने की सुविधा देते हैं जिनमें मेरिट या प्रवेश प्रवेश परीक्षा के माध्यम से एडमिशन लिया जा सकता जाता है।

GNM Kitne Saal Ka Hota Hai: GNM कोर्स की अवधि 3 वर्ष और 6 माह है जिसमें 6 महीने की इंटर्नशिप भी शामिल है क्योंकि तीन वर्ष का कोर्स पूरा करने के बाद जीएनएम के छात्रों को 6 महीने की इंटर्नशिप करना अनिवार्य है। इस तरह इस कोर्स की कुल अवधि 3.5 साल है। 

GNM ki Salary Kitni Hai: जीएनएम कोर्स करने के उपरांत एक नर्स के रूप में वेतन अस्पताल, नर्सिंग होम एंव हेल्थकेयर कम्युनिटी आदि में अलग – अलग होती है। नर्सिंग छात्रों का वेतन काफी आकर्षक होता हैं, क्योंकि हेल्थकेयर सेक्टर में लगभग सभी प्रोफाइल के लिए अच्छे वेतन की पेशकश की जाती है। अगर आपने अभी – अभी GNM Course पूरा किया है और फ्रेशर्स के रूप में अपने करियर की शुरुआत करने जा रहे है तो आप INR 3,00,000 से INR 5,00,000 रुपये प्रतिवर्ष के वेतन की उम्मीद कर सकते है।

यह वेतन अनुभव के साथ बढ़ता है जैसे – जैसे आपका अनुभव बढ़ता जायेगा, आपका वेतन भी बढ़ता जायेगा। कुछ सालो के अनुभव के बाद आप 8,00,000 रूपये प्रतिवर्ष के वेतन को भी आसानी से पा सकते है।

ये भी पढ़े: ग्रेजुएशन के बाद क्या करे?

जीएनएम कोर्स क्यों करें?

जीएनएम कोर्स हेल्थकेयर सेक्टर में अहम भूमिका निभाता है, छात्रों को इस कोर्स में थेरोटिकल, प्रैक्टिकल एंव व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाता है जिससे वह क्लीनिकल पद्धतियों के उपयोग से रोगियों की आवश्यकताओं को समझ कर सहायता करने में सक्षम हो सके। यह नौकरी रोगियों की देखभाल करने और डॉक्टरो को सहायता प्रदान करती है। 

सबसे जरूरी बात ये है कि GNM Course करने के बाद पूरी दुनिया में करियर बनाने के बहुत से अवसर है। अगर आप किसी प्रतिष्ठित नर्सिंग कॉलेज या विश्वविद्यालय से जीएनएम कोर्स की पढ़ाई करते है तो आप भारत ही नहीं विदेश में भी उच्च वेतन पर काम करने में सक्षम हो जाते है। 

जीएनएम कोर्स के लिए योग्यता क्या है? 

भारत के किसी भी कॉलेज या विश्वविद्यालय के माध्यम से GNM Course करने के लिए, आपको नीचे दी गयी न्यूनतम योग्यता को पूरा करना आवश्यक है। न्यूनतम योग्यता एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में भिन्न हो सकती हैं, लेकिन यहां आपको सामान्य योग्यता की जानकारी गयी है जो सभी संस्थानों पर लागू हो सकते हैं।

  • उम्मीदवारों द्वारा किसी भी मान्यता प्राप्त शैक्षिक बोर्ड से 12वी  (भौतिकी, जीव विज्ञान और रसायन विज्ञान) में उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • उम्मीदवार द्वारा 10+2 में न्यूनतम 50% कुल स्कोर एंव अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए 40 प्रतिशत अंक आवश्यक है।
  • कुछ विश्वविद्यालय GNM Course में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करते है जिनमें एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना आवश्यक है। 

जीएनएम में एडमिशन कैसे होता है? GNM Admission 2024

भारत में जीएनएम कोर्स में एडमिशन विभिन्न विश्वविधालयों द्वारा मेरिट एंव प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाता है। हालंकि अधिकतम कॉलेजो एंव विश्वविधालयों में छात्रों के 12वी के अंको के आधार पर मेरिट तैयार कर एडमिशन की प्रक्रिया पूरी की जाती है, लेकिन कुछ विश्वविद्यालय है जिनमें जीएनएम कोर्स में एडमिशन राष्ट्रीय, राज्य या विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा के आधार पर होता है। 

मेरिट के आधार पर 

स्टेप 1 : आपको सबसे उस कॉलेज या विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना है जिसमें आप एडमिशन लेना चाहते है। या फिर आप कैंपस जाकर ऑफलाइन भी एडमिशन के लिए आवेदन कर सकते है। 

स्टेप 2 : आवेदन करने के बाद आपके 12वी के अंको के आधार पर एक मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है। 

स्टेप 3 : अगर आप विश्वविद्यालय / कॉलेज द्वारा जारी मेरिट लिस्ट में स्थान पा लेते है तो आप एडमिशन के लिए योग्य हो जाते है। 

स्टेप 4 : मेरिट लिस्ट के बाद योग्य उम्मीदवारों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है जिसमें छात्रों को कोर्स फीस एंव आवशयक दस्ताबेज जमा करने की आवश्यकता होती है। 

स्टेप 5 : अभी आपका एडमिशन सफलतापूर्वक हो चुका है कुछ दिनों के बाद आपकी क्लासेस शुरू हो जायेगी, जिसकी जानकारी आपको संस्थान द्वारा दे दी जायेगी। 

प्रवेश परीक्षा के आधार पर 

स्टेप 1 : आप जिस भी प्रवेश परीक्षा के माध्यम से GNM Course में एडमिशन लेना चाहते है उसमें ऑनलाइन आवेदन करे। (प्रवेश परीक्षा की जानकारी नीचे दी गयी है)

स्टेप 2 : प्रवेश परीक्षा में आवेदन करने के कुछ दिन बाद परीक्षा आयोजित की जाती है जिसमें आपको शामिल होना है। 

स्टेप 3 : परीक्षा देने के कुछ दिन बाद परिणाम जारी किए जाते है जिसमें अगर आप सफलता हासिल कर लेते है तो आपको कॉलेज / विश्वविद्यालय बुलाया जाता है।

स्टेप 4 : कॉलेज में आपको अपने सभी आवश्यक दस्ताबेज जमा करने है साथ ही कोर्स की फीस भी जमा करनी है जिस कोर्स में आपने एडमिशन के लिए आवेदन किया था। 

स्टेप 5 : अभी आपके एडमिशन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है संस्थान द्वारा क्लासेस शुरू होने पर आपको सूचित कर दिया जायेगा। 

जीएनएम के लिए लोकप्रिय प्रवेश परीक्षा

भारत में बहुत से नर्सिंग कॉलेज एंव विश्वविद्यालय है जो मेरिट एंव प्रवेश परीक्षा के आधार पर GNM Course में एडमिशन की अनुमति देते है। भारत में राष्ट्रीय, राज्य एंव विश्वविद्यालय स्तर पर प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है। इसलिए यहां आपको कुछ लोकप्रिय प्रवेश परीक्षाओं की जानकारी दी जा रही है जिनके माध्यम से आप भारत के प्रतिष्ठित कॉलेज एंव विश्वविधालयो में एडमिशन ले सकते है। 

  • एम्स प्रवेश परीक्षा
  • बीएचयू नर्सिंग प्रवेश परीक्षा
  • JIPMER जीएनएम प्रवेश परीक्षा
  • उत्तर प्रदेश जीएनएम परीक्षा
  • तमिलनाडु जीएनएम परीक्षा
राज्य स्तरीय जीएनएम प्रवेश परीक्षा

भारत के विभिन्न राज्यों इ राज्य स्तरीय जीएनएम प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है जो इस प्रकार है:

राज्य का नाम  प्रवेश परीक्षा का नाम 
उत्तर प्रदेश  UP GNM 
वेस्ट बंगाल  WE GNM
तमिलनाडु  TN GNM
राजस्थान RJ GNM
मध्य प्रदेश  MP GNM
आंध्र प्रदेश AP GNM

जीएनएम कोर्स के प्रकार

जीएनएम का फुल फॉर्म जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी है ये तीन वर्षीय डिप्लोमा प्रोग्राम है। ये कोर्स छात्रों को रोगियों के क्लीनिकल उपचार सिखाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जीएनएम नर्सिंग कोर्स को तीन प्रकार से वर्गीकृत किया गया है। जो इस प्रकार है बेसिक जीएनएम, पोस्ट बेसिक जीएनएम।

बेसिक जीएनएम

बेसिक GNM Course तीन वर्षीय ग्रेजुएशन स्तरीय डिग्री कोर्स है जो छात्रों को नर्सिंग, हेल्थकेयर सिस्टम मैनेजमेंट और इन-पेशेंट केयर के बारे में गहरी समझ विकसित करने में मदद करता है। इस कोर्स को नर्सों को प्रशिक्षित करने के लिए ही डिज़ाइन किया गया है जो विभिन्न दवाओं का मैनेज भी करेंगी और मरीजों के लिए विभिन्न रोगों के उपचार भी प्रदान करेंगी।

पोस्ट बेसिक जीएनएम

पोस्ट-बेसिक जीएनएम 2 वर्षीय कोर्स है जिसे GNM Course करने बाद किया जा सकता है। इच्छुक उम्मीदवार इस कोर्स से नर्सिंग प्रशिक्षण और कौशल प्राप्त कर सकते हैं। यह कोर्स छात्रों को रोगी देखभाल मैनेजमेंट सिस्टम, विभिन्न दवाओं की जानकारी एंव क्लीनिक और अस्पतालों के बारे में समझ विकसित करता है। 

जीएनएम कोर्स की फीस (GNM ki Fees Kitni Hai)

भारत में विभिन्न कॉलेजों एंव विश्वविधालयों में GNM Course की फीस लगभग 20,000 – 1,00,000 रुपये प्रतिवर्ष है। हालाँकि, GNM Course की फीस सरकारी कॉलेज, प्राइवेट कॉलेज, स्थान आदि के अनुसार भिन्न – भिन्न हो सकती है। 

शीर्ष नर्सिंग संस्थानों में GNM Course फीस का विवरण नीचे दिया गया है:

संस्थान का नाम  जीएनएम फीस 
क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर 70,000 रूपये प्रतिवर्ष
केआईआईटी, भुवनेश्वर 30,000 रूपये प्रतिवर्ष
गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, कोझीकोड 15,000 रूपये प्रतिवर्ष
शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा 80,000 रूपये प्रतिवर्ष
इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च , कोलकाता 45,000 रूपये प्रतिवर्ष

जीएनएम कोर्स पाठ्यक्रम (GNM Syllabus in Hindi)

जीएनएम नर्सिंग कोर्स में पढ़ाये जाने वाले सभी विषय नीचे सूचीबद्ध हैं। हालाँकि, यह एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में अलग – अलग हो सकता है। यहां आपको जीएनएम कोर्स के तीनो वर्षो के सिलेबस की जानकारी दी गयी है जिससे आपको समझने में आसानी होगी कि जीएनएम कोर्स की पढ़ाई के दौरान आपको कौन – कौन से विषय पढ़ने को मिलेंगे। 

प्रथम वर्ष : सिलेबस (GNM 1st Year Subjects in Hindi)

एनाटॉमी एंड फिजियोलॉजी माइक्रो बायोलॉजी
साइकोलॉजी सोशियोलॉजी
फंडामेंटल ऑफ़ नर्सिंग फर्स्ट ऐड
नर्सिंग फाउंडेशन (प्रैक्टिकल) कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग – I
एनवायर्नमेंटल हाइजीन कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग – I (प्रैक्टिकल)
हेल्थ एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन स्किल नुट्रिशन 
इंग्लिश कंप्यूटर एप्लीकेशन 

द्रितीय वर्ष : सिलेबस (GNM 2nd year Subjects in Hindi) 

मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग I

कम्युनिकेबल डिसीसेस
मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग II मानसिक स्वास्थ्य और मनोरोग नर्सिंग
कंप्यूटर एजुकेशन  चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग 

तृतीय वर्ष : सिलेबस (GNM 3rd year Subjects in Hindi) 

मिडवाइफरी स्त्री रोग संबंधी नर्सिंग
मिडवाइफरी और स्त्री रोग संबंधी नर्सिंग (प्रैक्टिकल) सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग – II

भारत में शीर्ष 10 जीएनएम नर्सिंग कॉलेज

यहां आपको भारत के शीर्ष नर्सिंग कॉलेज की सूची दी गयी है जिनके माध्यम से आप GNM Course कर सकते है:

एस.आर नंबर कॉलेज का नाम
1 क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज
2 इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च
3 केआईआईटी विश्वविद्यालय
4 गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, कोझीकोड
5 जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च
6 सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज
7 गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय
8 मद्रास मेडिकल कॉलेज
9 अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
10 नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस, जयपुर

GNM Course Ke Baad Kya Kare

नौकरी प्रोफाइल  नौकरी विवरण
क्लिनिकल नर्स विशेषज्ञ क्लिनिकल नर्स विशेषज्ञ एक तरह की एडवांस प्रैक्टिस नर्स होती है जो विशिष्ट स्थितियों में सलाहकार का काम करती है। 
कानूनी नर्स सलाहकार एक कानूनी नर्स सलाहकार रजिस्टर्ड नर्स होती है जो अपनी विशेषज्ञता का उपयोग करके चिकित्सा संबंधी कानूनी मामलों पर सलाह देती है।
प्रोफ़ेसर जीएनएम कोर्स करने के उपरान्त आप मेडिकल कॉलेज आदि में एक प्रोफेसर के रूप में काम कर सकते है। 
ट्रैवेलिंग नर्स ट्रैवेलिंग नर्स एक हेल्थ केयर प्रोफेशनल है जो स्टाफ की कमी वाले चिकित्सा कार्यालयों, अस्पताल, स्कूल और क्लीनिक में चिकित्सीय सहायता करती है। 
फोरेंसिक नर्स कानूनी कार्यवाहियों के लिए जैसे हिंसा, आपराधिक गतिविधि एंव दुर्घटनाओं आदि से संबंधित आघात या मौत की वैज्ञानिक जांच में फोरेंसिक नर्स अहम भूमिका निभाती है। 
नर्स शिक्षक एक नर्स शिक्षक की प्रमुख जिम्मेदारी छात्रों को रोगी की देखभाल के बारे में इच्छुक नर्सों को सिखाना है।
इमरजेंसी रूम नर्स इमरजेंसी रूम नर्स, आपात रूम में भर्ती मरीजों की देखभाल, दवाई, जाँच आदि की जिम्मेदारी उठाती है एंव डॉक्टर्स की सहायता करती है। 

GNM कोर्स के बाद उच्च शिक्षा के अवसर

GNM Course करने के बाद छात्रों के पास उच्च शिक्षा के लिए विभिन्न विकल्प है, जिनमें से उम्मीदवार अपनी इच्छा अनुसार कोर्स का चुनाव कर आगे पढ़ाई जारी रख सकता है। यहां आपको कुछ कोर्सेस की जानकारी दी गयी है जिन्हे आप GNM Course करने के बाद कर सकते है। 

कोर्स का नाम  आवश्यक योग्यता
बीएससी नर्सिंग 12वी पास 
बीएससी नर्सिंग (पोस्ट बेसिक) 12वी + जीएनएम 
एमएससी नर्सिंग  बीएससी नर्सिंग या बीएससी नर्सिंग (पोस्ट बेसिक)
पीएचडी नर्सिंग  एमएससी नर्सिंग

GNM Books in Hindi

किताब का नाम  लेखक का नाम
एनाटॉमी, फिजियोलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी कर्ण मुनि शेखर
सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग एस. भाग्य लक्ष्मी
सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग जी. ज्ञानप्रसुने
मनोविज्ञान और समाजशास्त्र के. माधवी
मेडिकल-सर्जिकल नर्सिंग पी.एम. प्रतिभा
बाल स्वास्थ्य नर्सिंग एस. गोमती
जीएनएम मिडवाइफरी केस बुक श्रीमती पी. लावण्या
बाल चिकित्सा नर्सिंग गोमती

जीएनएम से सम्बंधित अक्सर पूछे जाने वाले सबाल

प्रश्न : जीएनएम का फुल फॉर्म क्या है? उत्तर : जीएनएम का फुल फॉर्म जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी है।  प्रश्न : जीएनएम और एएनएम में क्या अंतर है? उत्तर : एएनएम एक नर्सिंग कोर्स है जो छात्रों को ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक हेल्थकेयर सेवा प्रदाता के रूप में काम करने के लिए तैयार करता है। कोई उम्मीदवार 10वी पास करने के बाद एएनएम कोर्स में एडमिशन सकते है। जीएनएम एक डिप्लोमा स्तरीय नर्सिंग प्रोग्राम है जिसमें एडमिशन के लिए साइंस स्ट्रीम के साथ 12वी पास होना अनिवार्य है।  प्रश्न : जीएनएम कोर्स की फीस कितनी है? उत्तर : जीएनएम कोर्स को 20,000 से 1,50,000 रूपये प्रतिवर्ष में किया जा सकता है, लेकिन कोर्स की फीस कॉलेज पर निर्भर करती है।  प्रश्न : जीएनएम नर्सिंग कोर्स क्यों जरूरी है? उत्तर : जीएनएम कोर्स हमारे समाज के लिए बहुत आवश्यक है क्योंकि ये कौशलपूर्ण नर्स तैयार करने में मदद करता है जो लाखो मरीजों की देखभाल और ख्याल रखती है।  प्रश्न : क्या मैं 12वीं आर्ट्स के बाद जीएनएम कर सकता हूं? उत्तर : नहीं, जीएनएम कोर्स की न्यूनतम योग्यता के अनुसार, 12वी में भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान विषयों के साथ पास होना अनिवार्य है।  प्रश्न : जीएनएम नर्सिंग का भविष्य क्या है? उत्तर : जीएनएम उत्तीर्ण छात्रों की मांग की दिन व दिन बढ़ती जा रही है क्योंकि प्रत्येक अस्पताल, मेडिकल क्लिनिक आदि को नर्स की आवश्यकता है इसलिए ये कोर्स भविष्य की नजर से बेहतर से विकल्प है।  उम्मीद है कि आपको GNM Course Details in Hindi लेख से GNM कोर्स से जुडी सभी जानकारी मिली होगी, लेकिन अगर अब भी आपके मन में इस कोर्स से संबधित कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट कर सकते है और इसे अपने दोस्तों के सतह सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें।